Home > Archived > करोड़ों खर्च फिर भी गंदा पानी

करोड़ों खर्च फिर भी गंदा पानी

करोड़ों खर्च फिर भी गंदा पानी

ग्वालियर | करोड़ों रुपए खर्च करने के बाद भी शहरवासियों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध नहीं हो रहा है। नलों से सीवर युक्त पानी निकल रहा है जिसे पीकर लोग बीमारियों के शिकार हो रहे हैं। कई बार सम्बधित अधिकारियों को अवगत कराने के बाद भी गंदे पानी की समस्या दूर नहीं हुई। इस तरह की शिकायतें लेकर बुधवार को कुछ पार्षद परिषद में पहुंचे। पार्षद अपने साथ बोतल में भरकर गंदा पानी भी लाए थे। जिसे उन्होंने सभापति के साथ-साथ निगमायुक्त को भी दिखाया और चेतावनी दी कि यदि जल्द ही उनकी समस्या का समाधान नहीं हुआ तो वे क्षेत्रीय नागरिकों के साथ धरने पर बैठ जाएंगे।
गर्मी के दस्तक देते ही शहर में पानी की किल्लत सामने आने लगी है। कहीं गन्दे पानी को लेकर तो कहीं पानी नहीं मिलने से परेशान हैं। पानी समस्या को लेकर जहां नागरिक पार्षदों के पास जा रहे हैं वहीं पार्षद अधिकारियों के चक्कर काट रहे हैं। बुधवार को परिषद की बैठक में वार्ड 54 की पार्षद आशा संतोष राठौर ने निगमायुक्त और महापौर को पानी समस्या की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि किरार कॉलोनी, चना कोठार, आर्मी की बजरिया, ईदगाह एन.सी.सी. लाइन आदि क्षेत्रों में पिछले एक माह से पानी की गम्भीर समस्या है। कई बार सम्बंधित अधिकारियों को भी अवगत कराया जा चुका है लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि यदि जल्द ही पानी समस्या का समाधान नहीं हुआ तो वे क्षेत्रीय नागरिकों के साथ धरने पर बैठ जाएंगी।
वार्ड 22 की पार्षद सुधा दुबे ने गंदे पानी की शिकायत परिषद के सामने रखी। वे अपने साथ बोतल में गन्दा पानी भी लेकर आईं थी। उन्होंने कहा कि बसंत टॉकीज, जीवाजी नगर, अशोक नगर कॉलोनी, सिद्धेश्वर नगर, तरुण विहार, फिजीकल कॉलेज, सत्यदेव नगर आदि क्षेत्रों में पिछले कई दिनों से गन्दा पानी आ रहा है। पानी की लाइन जगह-जगह से फूटी हुई हैं जिससे सीवर युक्त पानी नलों से आ रहा है। उन्होंने महापौर और निगमायुक्त से समस्याओं के निराकरण की मांग की।
बोरिंग फुकी, पानी के लिए परेशान लोग
एबी रोड गोल पहाडिय़ा पर पिछले तीन दिनों से बोरिंग फुकी हुई है जिससे क्षेत्रीय लोगों को एक-एक बूंद पानी के लिए परेशान होना पड़ रहा है। इस बोंरिग से शंकर कालोनी, श्रीराम कॉलोनी, गणेश मंदिर, राजा गैस गोदाम, एबीरोड क्षेत्रों में पानी सप्लाई होता है। क्षेत्रीय नागरिकों ने इसकी शिकायत क्षेत्रीय पार्षद से भी की लेकिन समस्या का निराकरण नहीं हुई। 

Share it
Top