Home > Archived > अब महिला व विकलांगों के डिब्बों में भी कार्रवाई कर सकेगी जीआरपी

अब महिला व विकलांगों के डिब्बों में भी कार्रवाई कर सकेगी जीआरपी

ग्वालियर | अब जीआरपी ट्रेनों के महिला और विकलांग कोचों में भी जांच कर अपात्र यात्रियों को पकड़कर उनके खिलाफ कार्रवाई कर सकेगी। अभी तक महिला और विकलांग कोचों में कार्रवाई करने का अधिकार केवल आरपीएफ को ही था, लेकिन महिला-विकलांग कोचों में सामान्य यात्रियों की बढ़ती दखलंदाजी एवं महिला व विकलांग यात्रियों के साथ कोच में सामान्य यात्रियों द्वारा की जाने वाली हरकतों के बाद यह निर्णय लिया गया है कि अब महिला-विकलांग कोचों में जीआरपी भी गश्त करेगी और अपात्र यात्रियों के खिलाफ कार्रवाई करेगी।
ट्रेनों में महिला और विकलांग यात्रियों के लिए अलग से आरक्षित डिब्बा होता है। महिला कोच में केवल महिलाएं ही सवार होकर यात्रा कर सकती हैं और विकलांग कोच में केवल वह यात्री ही सफर कर सकते हैं, जो शारीरिक रूप से अक्षम हैं। इन कोचों में सामान्य यात्रियों का सफर करना वर्जित है। अगर कोई सामान्य यात्री इन कोचों में सफर भी करता है, तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाती है।
इसके बाद भी इन कोचों में सामान्य यात्री सफर करते हैं। कई बार तो यह स्थिति बन जाती है कि सामान्य यात्री पूरे कोच पर कब्जा जमा लेते हैं और महिला-विकलांग यात्री परेशानी उठाकर सफर करते हैं। ऐसे यात्रियों पर कार्रवाई करने के लिए कई बार आरपीएफ औचक जांच करती है, लेकिन बल की कमी के कारण यह कार्रवाई प्रतिदिन नहीं हो पाती है। जीआरपी को इन कोचों में कार्रवाई करने का अधिकार नहीं है। इससे सामान्य यात्री इन कोचों में बेखौफ सफर करते हैं, लेकिन अब निर्णय लिया गया है कि इन कोचों में आरपीएफ के साथ-साथ जीआरपी भी गश्त करेगी। जीआरपी भी उन यात्रियों पर कार्रवाई कर सकेगी, जो यात्री सामान्य हैं और महिला या विकलांग कोच में सफर कर रहे हैं इसलिए अब उन यात्रियों को सावधान हो जाने की आवश्यकता है, जो सामान्य हैं और महिला व विकलांग कोच में सफर करते हैं।
महिलाओं को होती है परेशानी
सामान्य यात्री महिला कोच में चढऩे से भी नहीं डरते। कई बार सामान्य यात्रियों ने महिला कोच में महिला यात्रियों के साथ छेडख़ानी की है। पिछले माह ही दिल्ली की रहने वाली एक महिला के साथ महिला कोच में छेडख़ानी का मामला सामने आया था। इसी प्रकार विकलांग कोच में भी विकलांग यात्रियों को भी सामान्य यात्री विकलांग कोच में परेशान करते हैं।
''अभी तक महिला एवं विकलांग कोच में आरपीएफ ही कार्रवाई करती थी। लेकिन अब महिला एवं विकलांग यात्रियों की सुरक्षा की दृष्टि से जीआरपी भी निगरानी रखेगी।
रवि प्रकाश
जनसम्पर्क अधिकारी, झांसी मण्डल

Share it
Top