Home > Archived > क्रिकेट से ज्यादा कामयाब होगी हॉकी सीरीज'

क्रिकेट से ज्यादा कामयाब होगी हॉकी सीरीज'

क्रिकेट से ज्यादा कामयाब होगी हॉकी सीरीज

नई दिल्ली | पाकिस्तानी हॉकी खिलाड़ियों और पीएचएफ का मानना है कि भारत और पाकिस्तान के बीच इस साल मार्च-अप्रैल में होने वाली द्विपक्षीय हॉकी सीरीज हाल ही में संपन्न क्रिकेट सीरीज से ज्यादा कामयाब होगी। पाकिस्तानी क्रिकेट टीम ने छह साल बाद भारत का दौरा करके वनडे सीरीज 2-1 से जीती, जबकि टी20 सीरीज 1-1 से बराबर रही। दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय हॉकी संबंधों की बहाली इस साल मार्च-अप्रैल में होगी जब दोनों टीमें पांच-पांच टेस्ट एक-दूसरे की मेजबानी में खेलेंगी। भारत और पाकिस्तान के बीच अखिरी द्विपक्षीय हॉकी सीरीज 2006 में खेली गई थी जब दोनों देशों में तीन तीन टेस्ट हुए थे। पाकिस्तान ने तीन जीते और भारत की झोली में एक जीत गई थी, जबकि दो टेस्ट ड्रॉ रहे। पाकिस्तान हॉकी महासंघ के महासचिव आसिफ बाजवा ने कहा कि क्रिकेट सीरीज की कामयाबी के बाद हमें यकीन है कि भारत-पाक हॉकी सीरीज भी बेहद कामयाब होगी। हॉकी 70 मिनट का खेल है और दर्शक एशियाई दिग्गजों के मुकाबले का बेसब्री से इंतजार करते हैं। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में हॉकी राष्ट्रीय खेल है और मुझे यकीन है कि भारतीय टीम का यहां दौरा यादगार रहेगा। वहीं अनुभवी फॉरवर्ड मोहम्मद रिजवान सीनियर ने कहा कि मुझे इसमें कोई शक नहीं कि हॉकी सीरीज ज्यादा कामयाब होगी। लोग हमसे अभी से पूछने लगे हैं कि टिकट कब मिलेगी या मैच कहां होने हैं। यही नहीं लोग सीरीज देखने के लिये भारत का वीजा लेने को भी बेकरार हैं। पाकिस्तानी मिडफील्डर मोहम्मद तौसीक ने कहा कि भारत में हॉकी खेलने का अनुभव सबसे अलग है क्योंकि यहां दर्शक भारी तादाद में स्टेडियम आते हैं। हाकी इंडिया लीग में मुंबई मैजिशियंस के लिये खेल रहे तौसीक ने कहा कि हमने राष्ट्रमंडल खेल 2010 में देखा था जब भारत-पाकिस्तान मैच के लिये दिल्ली में नेशनल स्टेडियम खचाखच भरा था। दोनों देश आपस में सीरीज खेलेंगे तो यह आलम हर मैच में होगा।उन्होंने कहा कि भारतीय टीम 2006 में जब पाकिस्तान आई थी जब लाहौर, फैसलाबाद, रावलपिंडी हर जगह स्टेडियम भरे होते थे। भारत-पाकिस्तान हॉकी का दोनों मुल्कों में जबर्दस्त क्रेज है और हमें इस सीरीज का बेताबी से इंतजार है।

Share it
Top