Home > Archived > रौन में नशा निवारण संगोष्ठ आयोजित

रौन में नशा निवारण संगोष्ठ आयोजित

मिहोना | साहित्यक सांस्कृतिक सामाजिक संस्था खुशबू रौन द्वारा कस्बे के पचौरी मोहल्ले में शंकर जी के स्थान पर एक वृहद नशा निवारण संगोष्ठी आयोजित की गई जिसकी अध्यक्षता वरिष्ठ समाजसेवी बाबूराम शर्मा ने की। बतौर मुख्य अतिथि वरिष्ठ किसान नेता राजाबाबू पचौरी उपस्थित थे। विशिष्ट अतिथि के रूप में पत्रकार हरीबाबू शर्मा निराला तथा समाज सेवी प्रेमनारायण बरूआ उपस्थित थे। इस संगोष्ठी में विषय विशेषज्ञों कवियों, समाज सेवियों ने नशे की दुष्प्रवृतियों पर अपने अपने विचार रखे। लहार से पधारे डॉ कैलाश नारायण प्रजापति ने कहा शराब हमारे समाज के लिए बहुत घातक है, इससे हजारों सैकड़ों घर तबाह हो गए। शराब आदमी की सोच बदलकर उसे मानव से दानव बना देती है। यह दानवीय प्रवृत्ति बढ़ाती है और हमें पतन की ओर ले जाती है। खुशबू संस्था के अध्यक्ष डॉ शिवेन्द्र ने युवाओं से आव्हान किया इस बुराई से दूर रहें तथा भविष्य में शराब गांजा स्मैक चरस जैसी प्राण घातक नशे की आदत छोड़ दें। उन्होंने कहा कि-
नशा की आदत बहुत बुरी है। नशा जहर से बुझी छुरी है।।
नशा नाश की जड़ है भाई। इससे पनपे सभी बुराई।।
युवा समाज सेवी प्रेमनारायण बरूआ ने गांव के करीब 50 युवाओं को शपथ दिलाकर भविष्य में नशा न करने के लिए प्रेरित किया। इस संगोष्ठी में शंकर जी के सामने का पूरा प्रांगण खचाखच भर गया जिसमें युवा महिलाओं व ग्राम के प्रबुद्व लोगों ने बढ़चढ़कर भाग लिया। लोक गायक श्याम पाण्डेय, कन्हैसिंह महदवा तथा राकेश त्यागी व ओंकार त्यागी उर्फ विकल गायक ने भजनों के माध्मय से नशे के ऊपर प्रकाश डाला गत दो बजे तक चली इस संगोष्ठी में हरीबाबू निराला शिक्षक व कवि हरविलास प्रजापति म.प्र. जन अभियान परिषद के बीसी सुनील कुमार चतुर्वेदी समाज सेवी बलराम पचौरी, खुशबू संस्था के स्वयं सेवकों ने भविष्य में नशे से दूर रहने की कसम दिलाई युवाओं ने कहा हम कोई नशा नहीं करेंगे। यह संगोष्ठी कस्बे में जन जाग्रति फैलाने में सफल रही आभार प्रदर्शन रामौतार त्यागी ने किया, सत्तेश उर्फ टेनी ने अतिथियों का स्वागत किया। गोष्ठी को मानगढ सरपंच जगदीश सिंह, शिक्षक अजेश सिंह, वकील रामजीलाल त्यागी, समाजसेवी बलराम पचौरी, प्रताप पचौरी, कैलाश पचौरी ने भी संबोधित किया। गोष्ठी में खुशबू मंच के कलाकारों ने एक लघु नाटिका दारूखोर पति पेश की जो खूब सराही गई। दारूखोर पति का अभिनय श्याम कुमार पाण्डेय ने किया कार्यक्रम देररात दो बजे तक चलता रहा। 

Share it
Top