Home > Archived > क्वारी नदी का पुल हो सकता है कभी भी ध्वस्त

क्वारी नदी का पुल हो सकता है कभी भी ध्वस्त

क्वारी नदी का पुल हो सकता है कभी भी ध्वस्त


भिण्ड|
मप्र और उप्र की सीमा पर स्थित चम्बल नदी के पुल में आई दरार के बाद$img_title क्वारी नदी का पुल भी बुरी तरह छतिग्रस्त हो चुका है। इस पुल से गुजरने वाले भारी वाहनों की वजह से पुल के बीचों-बीच एक गड्डा हो गया है, जिसे एक पटिया रखकर पाट दिया गया है। यह कभी भी बड़ी कोई दुर्घटना को आमंत्रण दे रहा है। जिला प्रशासन द्वारा चम्बल नदी के पुल के क्षतिग्रस्त होने को तो गंभीरता से लेकर ऐतिहात के तौर पर चम्बल पुल से गुजरने वाले वाहनों को रोक दिया गया है। जिसके चलते वेशक यात्रियों को आवागमन में परेशानी झेलनी पड़ रही है, लेकिन किसी भी बड़ी दुर्घटना को रोकने के लिए यह प्रशासन का जरूरी कदम है। लेकिन अभी तक क्वारी नदी की ओर जिला प्रशासन ने ध्यान नहीं दिया है। जो कभी भी एक बड़ी दुर्घटना के रूप में प्रशासन के सामने विकराल समस्या पैदा कर सकता है। इन दोनों पुलों के क्षतिग्रस्त होने के लिए जिम्मेदार कोई और नहीं बल्कि तादात से अधिक बजन लेकर चलने वाले भारी वाहन हैं। म.प्र. की नदियों से रेत का अवैध उत्खनन कर भारी मात्रा में डम्पर और अन्य वाहनों के माध्यम से रेत माफियाओं द्वारा उ.प्र. भेजा जा रहा था, इन वाहनों के भारी बजन के वजह से दोनों पुल क्षतिग्रस्त हुए हैं। कई बार परिवहन विभाग का भी ध्यान इस ओर आकर्षित कराया जा चुका है, इसके बाबजूद भी भारी वाहनों के चलने पर रोक नहीं लगी। जिसका परिणाम आज उ.प्र. और म.प्र. को जोडऩे वाली भिण्ड-इटावा मार्ग का बन्द होना है। इसका खामियाजा भिण्ड व इटावा की जनता को झेलना पड़ रहा है। भिण्ड में सब्जी इटावा से आती है, पुल के क्षतिग्रस्त होने की वजह से वर्तमान में सब्जी इटावा से भिण्ड नहीं आ पा रही है। नतीजन सब्जी के भाव आसमान छू रहे हैं।
नौ दिन बाद भी नहीं हुई मरम्मत
चंबल पुल को पड़े हुए नौ दिन बीत चुके लेकिन उसकी मरम्मत का कार्य अब तक चालू नहीं हो सका। बीतों दिनों चंबल पुल पर 32 वर्ग फीट चौड़ा गड्डा हो जाने की वजह से उसे 30 जुलाई को तत्काल प्रभाव से बंद कर दिय गया था और उसकी मरम्मत का कार्य बुधवार को शुरु होना था जो कि अब तक नहीं हुआ। चंबल पुल पर वाहनों के आवागमन पर रोक की बजह से हजारों यात्रियों को प्रतिदिन परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं। इस पुल से एक हजार से अधिक यात्री गुजरते हैं। चंबल पुल की मरम्मत का कार्य बुधवार से शुरु होना था लेकिन नहीं हो सका। इस पुल को बंद हुए नौ दिन बीत चुके हैं। मरम्मत कार्य भी शरु नहीं हुआ ऐसे में यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं।

Share it
Top