Home > Archived > अपमान से भड़के पूर्व मंत्री बोले- बद्तमीज हो गए हैं कांग्रेसी

अपमान से भड़के पूर्व मंत्री बोले- बद्तमीज हो गए हैं कांग्रेसी

अपमान से भड़के पूर्व मंत्री बोले- बद्तमीज हो गए हैं कांग्रेसी

ग्वालियर| शहर जिला ब्लॉक कांगे्रस कमेटी क्रमांक 8 द्वारा आयोजित गोठ कार्यक्रम में पूर्व मंत्री औ$img_titleर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अपमान सहन नहीं कर सके। उन्होंने पूर्व मंत्री महेन्द्र सिंह कालूखेड़ा के सामने कांग्रेसियों को बद्तमीज तक कह डाला। उन्होंने कांग्रेसियों को प्रशिक्षित करने के लिए शिविर आयोजित कराने की सलाह भी श्री कालूखेड़ा एवं कांग्रेस जिलाध्यक्षों को दे डाली। ब्लॉक क्रमांक 8 की कार्यकारिणी को नियुक्ति पत्र दिये जाने हेतु आयोजित समारोह एवं गोठ कार्यक्रम में पूर्व मंत्री भगवान सिंह यादव ने मंच से अपने संबोधन में पूर्व मंत्री महेन्द्र सिंह कालूखेड़ा को संबोधित करते हुए कहा कि ''महेन्द्र सिंह जी जब तक आप नहीं पधारे, किसी ने हम वरिष्ठ कांग्रेसियों को माला तक नहीं डाली। किसी को भी इतनी तमीज नहीं है। इन कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित करने के लिए ट्रेनिंग कैंप लगाए जाने चाहिए। श्री यादव ने कहा कि ''तकलीफ होती है जब दर्शन सिंह और मोहन सिंह कार्यक्रमों में पूर्व मंत्री और पूर्व विधायकों को कुर्सी तक नहीं देते हैं। कुछ समय बाद जब आप लोगों को नीचे बैठाया जाएगा तो तकलीफ होगी। शहर जिलाध्यक्ष दर्शन सिंह और ग्रामीण जिलाध्यक्ष मोहन सिंह की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि ''स्वयं सिंधिया उनका सम्मान करते हैं, ये दोनों नहीं करते। उन्होंने अपमान के लिए कार्यक्रम आयोजक ब्लॉक क्रमांक 8 के अध्यक्ष सुरेश पहलवान को भी तलाड़ लगाई। अपने संबोधन में श्री यादव ने शहर जिलाध्यक्ष दर्शन सिंह के कार्य के प्रति संतुष्टि जताई वहीं ग्रामीण जिलाध्यक्ष मोहन सिंह राठौर को और अधिक मेहनत करने की बात कही। उन्होंने कहा कि लाखन सिंह के कार्यक्रम में मोहन सिंह नहीं गए यह ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का जिलाध्यक्ष विधायक से अधिक पावरफुल होता है। उन्होंने केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा की गई कांग्रेसी एकता की पहल की सराहना करते हुए कहा कि कांग्रेसियों में एकता नहीं होगी तो सत्ता भी नहीं मिल सकती। उन्होंने खुलासा किया कि जिला इकाइयों का गठन श्री सिंधिया ने किया है मगर उसकी अनुशंसा महेन्द्र सिंह कालूखेड़ा ने की। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित पूर्व मंत्री महेन्द्र सिंह कालूखेड़ा ने अपने संबोधन में कहा कि भगवान सिंह की बात पर ध्यान दें। उन्होंने कहा कि कांग्रेसी अनुशासन पर ध्यान दें। उन्होंने कहा कि रेलवे स्टेशन पर जब महाराज आते हैं तब कांग्रेसियों द्वारा जिस तरह का प्रदर्शन किया जाता है वह ठीक नहीं। अधिक भीड़ और हो हल्ला के कारण महिलाएं खड़ी रह जाती हैं वे मालाएं छोड़कर चली जाती हैं, यह ठीक नहीं। उन्होंने कहा कि जिला या ब्लॉक स्तर पर जो कार्यकर्ता छूट गए हैं। उनकी वरिष्ठता के आधार पर कार्यकारिणियों में लेने की पहल करें। उन्होंने कहा कि पूर्व विधायक एवं पूर्व मंत्री ही नहीं वरिष्ठ कांग्रेजन का भी पूरा सम्मान होना चाहिए। प्रदेश में भ्रष्टाचार के मुद्दे पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि आज हर विभाग में भ्रष्टाचार है, आम आदमी भ्रष्टाचार से तृस्त है। कार्यक्रम में वयोवृद्ध कांग्रसी नेता डॉ. रघुनाथ राव पापरीकर, प्रदेश महासचिव अशोक सिंह सहित अन्य वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Share it
Top