Home > Archived > लेखाधिकारी ने रोका निगमायुक्त का भुगतान,प्रशासनिक भवन के निर्माण में एक करोड़ अतिरिक्त खर्च पर आपत्ति

लेखाधिकारी ने रोका निगमायुक्त का भुगतान,प्रशासनिक भवन के निर्माण में एक करोड़ अतिरिक्त खर्च पर आपत्ति

लेखाधिकारी ने रोका निगमायुक्त का भुगतान,प्रशासनिक भवन के निर्माण में एक करोड़ अतिरिक्त खर्च पर आपत्ति

ग्वालियर | बिना स्वीकृति के निगमायुक्त वेदप्रकाश शर्मा द्वारा निर्माणाधीन प्रशास$img_titleनिक भवन के लिए एक करोड़ रुपए खर्च करने पर लेखाधिकारी दिनेश बाथम ने रोक लगा दी है। लेखाधिकारी ने इस संबंध में राज्य शासन को पत्र भी लिखा है कि भवन के निर्माण पर अभी तक स्वीकृत राशि 8 करोड़ रुपए खर्च कर दी गई है मगर अनेक कार्य अधूरे पड़े हैं। अब जल्द काम पूरा कराने के बहाने निगमायुक्त ने आनन- फानन में एक करोड़ रुपए का अतिरिक्त भुगतान कर दिया जबकि इसके लिए वित्तीय स्वीकृति या बजट आवंटन परिषद या एमआईसी से नहीं लिया गया।
सिटी सेंटर में निगम का नवीन प्रशासनिक भवन निर्मित हो रहा है। दो वर्ष पहले निर्माण कार्य शुुरू होने पर इसकी लागत 8 करोड़ रुपए रखी गई थी मगर इतनी भारी भरकम राशि खर्च होने के बाद भी भवन का काम पूरा नहीं हो सका है। इसी बीच पिछले महीने भाजपा के वरिष्ठ नेता स्व.शीतला सहाय की प्रतिमा के अनावरण समारोह में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की मौजूदगी में निगम द्वारा लिखित फोल्डर बांटे गए कि निर्माण कार्य अगस्त में पूरा करा लिया जाएगा। इसके बाद महापौर समीक्षा गुप्ता ने निर्माणाधीन भवन का निरीक्षण किया तो हर तरफ गंदगी देखकर उन्होंने निगम अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई थी। भवन का कार्य शीघ्र पूरा कराने के लिए निगम अधिकारियों ने आंकलन लगाया कि अभी दो करोड़ रुपए अतिरिक्त खर्च करने पड़ेगे। इसके बाद निगमायुक्त ने एक करोड़ रुपए के चैक जारी कर दिए। इन पर लेखाधिकारी दिनेश बाथम ने आपत्ति जताते हुए भुगतान पर रोक लगा दी। इस पर जब निगमायुक्त ने नाराजगी जताई तो लेखाधिकारी ने नगरीय प्रशासन विभाग को पत्र भेज दिया कि उन पर गलत तरीके से वित्तीय स्वीकृति प्रदान करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है।

Share it
Top