Home > Archived > लंदन ओलिंपिक : सेमीफाइनल में भी जीते सुशील, गोल्ड अब बस एक कदम दूर

लंदन ओलिंपिक : सेमीफाइनल में भी जीते सुशील, गोल्ड अब बस एक कदम दूर

लंदन ओलिंपिक : सेमीफाइनल में भी जीते सुशील, गोल्ड अब बस एक कदम दूर


$img_titleलंदन:
भारतीय पहलवान सुशील कुमार ने 66 किलोग्राम फ्री-स्टाइल वर्ग के सेमीफाइनल मुकाबले में कजाकिस्तान के अकझुरेक तनातरोव को हराकर फाइनल में प्रवेश कर लिया है।सुशील ने पहले राउंड में कजाकिस्तान के अकझुरेक तनातरोव को 3-0 से हरा दिया। दूसरे राउंड में वह 3-0 से हार गए। इसके बाद तीसरे राउंड में 3 अंक से पिछड़ने के बाद सुशील ने शानदार वापसी करते हुए प्रतिद्वंद्वी खिलाड़ी को धूल चटा दी। सुशील कुमार पहले ऐसे भारतीय खिलाड़ी हैं, जिन्होंने लगातार दो बार ओलिंपिक पदक पक्का कर लिया है। फाइनल में भारतीय समय के अनुसार शाम साढ़े छह बजे उनका मुकाबला जापान के पहलवान तात्सुहिरो योनीमित्सु से होगा।इससे पहले, सुशील ने क्वार्टर फाइनल में उज्बेकिस्तान के इख्तियार नवरुजोव को हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया।सुशील ने पिछले ओलिंपिक के चैंपियन तुर्की के शाहीन रमजान को 2-1 से हराकर क्वार्टर फाइनल में अपनी जगह बना ली। बीजिंग ओलिंपिक (2008) के कांस्य पदक विजेता सुशील कुमार ने पहले दो मिनट के दौर में दो टेक्निकल अंक दे दिए, लेकिन अगले दोनों गेम जीत कर मुकाबला 3-1 से जीत लिया।
भारत और तुर्की दोनों को पहले दौर में बाई मिली थी और 2007 के विश्व चैंपियन रमजान के पहले दौर में दो अंक बना लेने से भारतीय खेमे में मायूसी छा गई और ऐसे लगने लगा कि सुशील के लिए इस चैंपियन पहलवान के सामने वापसी करना काफी कठिन होगा, लेकिन दूसरे दौर में अंकरहित रहने के कारण हुए टॉस के बाद विश्व और एशिया चैंपियन सुशील को 'क्लिंच' का लाभ मिला। तीसरे और अंतिम राउंड में दोनों पहलवान एक-दूसरे को कोई मौका नहीं देना चाहते थे, लेकिन अंतिम मिनट में सुशील ने अंक अर्जित कर मुकाबला अपनी झोली में डाल लिया।लंदन ओलिंपिक में भारत के खाते में पांच पदक आ गए हैं, लेकिन स्वर्ण पदक की कमी अभी खल रही है। मुकाबले से पहले अपनी जीत के प्रति आश्वस्त दिख रहे सुशील कुमार ने कहा है कि वह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए प्रतिबद्ध हैं। 29 वर्षीय सुशील ने कहा, मेरे वर्ग में कुछ ही ऐसे पहलवान हैं, जिनसे मैं अब तक नहीं भिड़ा हूं।



Share it
Top