Home > Archived > लंदन ओलंपिक पर फिक्सिंग का साया

लंदन ओलंपिक पर फिक्सिंग का साया

लंदन ओलंपिक पर फिक्सिंग का साया

लंदन। चीन की यू यांग-वांग शियाओली और दक्षिण कोरिया जुंग क्युंग-किम $img_titleहा का विवादित मैच ओलंपिक खेलों में चीन, इंडोनेशिया और द.कोरिया के बैडमिंटन खिलाड़ियों पर जान बूझकर हारने का आरोप है.अगर कोई खिलाड़ी ओलंपिक जैसे मुकाबलों में कोई मैच जीतने की क्षमता रखता हो और फिर भी अपने कमज़ोर खिलाड़ी से हार जाए तो इसे क्या कहा जाएगा?दन ओलंपिक में जान बूझकर मैच हारने की घटना या फिर कहा जाए कि मैच फिक्सिंग का मामला पहली बार उजागर हुआ है.ऐसा पहली बार है कि किसी ओलंपिक के इतिहास में मैच फिक्सिंग के आरोप लगे हैं. ओलंपिक बैडमिंटन फैडरेशन की ओर से इस सभी आठों खिलाड़ियों को नोटिस भेजा गया है. इन खिलाड़ियों ने अपनी सफाई में कहा कि वह काफी थके हुए थे. यह जान बूझकर पहले दौर की अंकतालिका बिगाड़ने के लिए किया गया. ग्रुप चरण के लिए क्वालीफाई कर चुकी दो जोड़ियों ने कमजोर प्रतिद्वंद्वियों के साथ खेलने के लिए ऐसा किया. चीन की यू यांग और वांग शियाओली और दक्षिण कोरिया के गैर वरीय जुंग क्युंग और किम हा ना के बीच मैच संदेह के घेरे में है. चीनी जोड़ी यह मैच भारी अंतर से हारी. इस हार के मायने हैं कि यू और वांग को अब अपने हमवतन तियान किंग और झाओ युनलेइ से नहीं भिड़ना होगा जो ग्रुप चरण में दूसरे स्थान पर रहे थे. बाद में दक्षिण कोरिया के तीसरी वरीयता प्राप्त हा जे और किम मिन जुंग ने इंडोनेशिया के मेलियाना जौहरी और पोली ग्रेसिया के बीच मैच की भी बीडब्ल्यूएफ जांच कर रहा है.





Share it
Top