Home > Archived > अफजल की दया याचिका पर फैसला सत्र बाद

अफजल की दया याचिका पर फैसला सत्र बाद

नई दिल्ली। गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे संसद में जारी शीतकालीन सत्र के बाद संसद हमला मामले में दोषी करार अफजल गुरू और छह अन्य की दया याचिकाओं से जुडी फाइलों पर गौर करेंगे। उन्होंने यहां बीएसएफ के समारोह के इतर कहा, केवल अफजल गुरू की फाइल नहीं है, मेरे पास दया याचिकाओं से जुडी सात फाइलें हैं। मैं संसद सत्र के बाद फाइलें देखूंगा। संसद का शीतकालीन सत्र 20 दिसंबर तक चलेगा। गुरू की दया याचिका राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा गृह मंत्रालय को समीक्षा के लिए वापस भेजी गई है। उन्हें 2001 के संसद हमले के मामले में मौत की सजा दी गई है। इस हमले में जवानों सहित नौ लोगों की मौत हुई थी और 16 घायल हुए थे। सीमा सुरक्षा बल के 47वें स्थापना दिवस समारोह के मौके पर जवानों को संबोधित करते हुए शिंदे ने बल में प्रशिक्षण के उच्चस्तर की प्रशंसा की और कहा कि सरकार कौशल सुधार के लिए हरसंभव मदद सुनिश्चित करेगी। ज्ञात रहे, बीएसएफ का स्थापना दिवस समारोह एक दिसंबर को होना था लेकिन 30 नवंबर को पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल के निधन के बाद यह समारोह सोम को आयोजित किया गया।

Share it
Top